Saltar al contenido

सोमवार को पड़ रहा है ये खास दिन, कुछ आसान उपाय ही बना देंगें …

सोमवार को पड़ रहा है ये खास दिन, कुछ आसान उपाय ही बना देंगें ...

सोमवार, 16 अप्रैल के दिन पौष अमावस्‍या है। मान्‍यता है कि इस दिन दान-पुण्‍य और पूजा-अर्चना करने से अक्षय पुण्‍य की प्राप्‍ति होती है। शास्‍त्रों में कहा गया है कि अमावस्‍या के दिन किए गए धर्म-कर्म से देवी-देवता जल्‍दी प्रसन्‍न होते हैं और सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करते हैं।

जब सोमवार के दिन अमावस्‍या पड़ती है तो उसे सोमवती अमावस्‍या कहते हैं। इस दिन पवित्र नदियों और जलाशयों में स्‍नान करने का भी महत्‍व है। अगर आपकी भी कोई मनोकामना अधूरी रह गई या आप किसी कष्‍ट से मुक्‍ति पाना चाहते हैं तो सोमवती अमावस्‍या आपके लिए सुनहरा अवसर है।

इस दिन किया गया दान और पूजा-पाठ विशेष फल की प्राप्‍ति करवाता है। सोमवार के दिन अमावस्‍या साल में बस एक बार ही आती है। चूंकि सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित होता है इसलिए सोमवती अमावस्‍या विशेष महत्‍व रखती है।

सोमवती अमावस्‍या का महत्‍व

मान्‍यता है कि जो विवाहित स्‍त्री सोमवती अमावस्‍या के दिन व्रत रखती है उसके पति को दीर्घायु मिलती है और पति-पत्‍नी के बीच प्रेम बढ़ता है। इसके अलावा इस अमावस्‍या पर पूजा करने से पितृ दोष और कालसर्प दोष से भी मुक्‍ति मिलती है या उसका प्रभाव कम होता है।

Kundali libre

सोमवती अमावस्‍या की पूजन विधि

इस दिन उपवास रखने और पीपल के पेड़ की पूजा करने का विधान है। सुबह उठकर स्‍नान करें। यदि संभव हो तो किसी पवित्र नदी में स्‍नान करें, इससे पितरों को शांति मिलती है। अब गायत्री मंत्र का जाप करते हुए सूर्य देव एवं तुलसी को जल अर्पित करें। शिवलिंग पर जल चढ़ाएं।

अब किसी मंदिर जाकर पीपल के पेड़ के पास तुलसी के पौधे को भी रखें। पीपल के पेड़ पर दूध, रोली, चंदन, दही, अक्षत, फूल, हल्‍दी और काले तिल चढ़ाएं। पान, हल्‍दी की गांठ और धान को पान पर रखकर तुलसी पर चढ़ाएं। घर में रुद्राभिषेक करवा सकते हैं। खीर-पूरी और आलू की सब्‍जी और एक मिठाई पितरों को अर्पित कर स्‍वयं भी ग्रहण करें। इस दिन अन्‍न, वस्‍त्र और मिठाई का दान करें।

आज हम आपको कुछ उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आप सोमवती अमावस्‍या पर कर अपनी मनोकामना की पूर्ति कर सकते हैं।

  • सेामवती अमावस्‍या के दिन आटे की छोटी-छोटी गोलियां बनाकर तालाब में मछलियों को खिलाएं। इससे धन लाभ के योग बनेंगें और कर्ज से मुक्ति मिलेगी।
  • सुबह जल्‍दी उठकर स्‍नान के बाद हनुमान चालीसा का पाठ करें और हनुमान जी को लड्डू का भोग लगाएं। हनुमान जी के आगे चौमुखा चमेली के तेल का दीपक भी जलाएं और ‘ऊं रामदूताय नम:’ मंत्र का 108 बार जाप करें।
  • इस दिन नर्मदेश्‍वर शिवलिंग की पूजा करने से आपको दोगुने फल की प्राप्‍ति होगी। अभिमंत्रित नर्मदेश्‍वर शिवलिंग प्राप्‍त करने के लिए यहां क्‍लिक करें
  • इस शुभ दिन पर अन्‍न का दान शुभ रहता है। गेहूं का दान करें या किसी गरीब को खाना खिलाएं।
  • शिवलिंग पर तांबे के लोटे से जल चढ़ाने के बाद बिल्‍व पत्र अर्पित करें और भगवान शिव के पंचाक्षर मंत्र ‘ऊं नम: शिवाय’ का 108 बार जाप करें।

Horóscopo 2018

किसी भी जानकारी के लिए Llamada करें: 8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Me gusta और Seguir करें: Página de Facebook de AstroVidhi