Saltar al contenido

पांच मुखी रुद्राक्ष- छात्रों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है

पांच मुखी रुद्राक्ष- छात्रों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है

पांच मुखी रुद्राक्ष का शासक बृहस्पति ग्रह है। यह रुद्राक्ष भगवान शिव के दूसरे रूप रूद्र का प्रतीक भी है, जिसे कालाग्नि कहा जाता है। यह पवित्र और प्रभावशाली रुद्राक्ष पंचेश्वर या पांच मुखी शिव का प्रतिनिधित्व करता है। पांच मुखी रुद्राक्ष बहुत ही प्रभावशाली रुद्राक्ष है, इस रुद्राक्ष पर पांच देवों की कृपा बरसती है, जिस कारण यह पांच तत्वों से निर्मित दोषों का नाश करता है। यह मानसिक शांति प्रदान करता है। पढ़ने वाले छात्रों के लिए यह रुद्राक्ष किसी वरदान से कम नहीं है, इसके अलावा स्मरण शक्ति को बढ़ाने के लिए इस रुद्राक्ष को धारण किया जाता है, आध्यात्मिक कार्यों और गृहस्थ जीवन में सुख-शांति बनायें रखने के लिए यह रुद्राक्ष बहुत लाभकारी है।

पांच मुखी रुद्राक्ष और ज्योतिष

शिव पुराण के अनुसार पांच मुखी एकमात्र ऐसा रुद्राक्ष है, जिस पर भगवान शिव के साथ भगवान विष्णु, भगवान गणेश, सूर्य भगवान व शक्ति की प्रतीक माँ भगवती की असीम कृपा होती है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार यदि कुंडली में बृहस्पति कमजोर हो अथवा अस्त हो तो पांच मुखी रुद्राक्ष को धारण करना लाभदायक होता है। पांच मुखी रुद्राक्ष का स्वामी बृहस्पति है। इसी कारण पांच मुखी रुद्राक्ष को धारण करनेवाले व्यक्ति के अंदर उर्जा, एकाग्रता, मानसिक शांति और शक्ति का निर्माण होता है। यह रुद्राक्ष धनु तथा मीन राशि के लोगों के लिए बहुत लाभदायक होता है, इसके अलवा यह रुद्राक्ष किसी भी राशि का जातक धारण कर सकता है।

अभी अभिमंत्रित पांच मुखी रुद्राक्ष आर्डर करें

पांच मुखी रुद्राक्ष का महत्व

बृहस्पति देव का आशीर्वाद प्राप्त होता है

पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करने से आपको बृहस्‍पति देव की कृपा तो मिलती ही है, साथ ही उनसे संबंधित दोष भी समाप्‍त हो जाते हैं। जिन जातकों की कुंडली में बृहस्‍पति कमजोर है तथा अपना शुभ फल नहीं दे रहें ऐसे जातकों के लिए पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करना उत्तम माना गया है, इसके प्रभाव से कुंडली में गुरु की स्थिति मजबूत होती है तथा जीवन में सभी क्षेत्र में कामयाबी मिलती मिलती व्यक्ति निडर होकर हर कार्य में सफलता की सीढ़ी चढ़ने में कामयाब होता है।

स्मरण शक्ति में वृद्धि

पांच मुखी रुद्राक्ष याददाश्त और एकाग्रता शक्ति में सुधार करने में बहुत ही मददगार है। जो जातक किसी भी बात को लम्बे समय तक याद नहीं रख पाता या जो छात्र पढाई में कमजोर है, जिनकी याददाश्त कमजोर है, उन्हें पांच मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए। इसके प्रभाव से छात्र पढाई में कामयाबी हासिल करते है, भविष्य में उनकी स्मरण शक्ति में तेजी से वृद्धि होती है। इस रुद्राक्ष के प्रभाव से छात्र ऊँचे स्तर की पढाई करने में कामयाब होते है तथा जीवन में सफल होते है।

शिक्षा प्राप्ति में आनेवाली रूकावटे दूर होती है

हमने अक्सर देखा है की पढने वाले कई छात्र जी तोड़ मेहनत कर पढाई में अव्वल आने के लिए हमेशा प्रयासरत रहते है परन्तु कुंडली में उपस्थित अशुभ ग्रहों के प्रभाव के कारण छात्रों को कई बार शिक्षा प्राप्ति में रुकावटों का सामना करना पड़ता है या उनको अनुसार परिणाम प्राप्त नहीं होते, ऐसे छात्र बिल्कुल भी निराश न हो, क्योंकि पांच मुखी रुद्राक्ष आपके लिए ही है, बिना संकोच इस रुद्राक्ष को धारण करने के बाद आपको स्वयं को महसूस होगा की आपकी शिक्षा प्राप्ति में जो भी रूकावटे आ है उनका, उनका समूल नाश हो रहा है और आपकी शिक्षा के प्रति रूचि और भी बढ़ गयी है, इस रुद्राक्ष के प्रभाव से पांच देवों की कृपा आप पर बनी रहती है और भगवान स्वयं पढाई में आपकी सहायता करते है और आपको कामयाब बनाते है।

सुख-समृद्धि की प्राप्ति

बढ़ती उम्र के साथ यदि आपकी सुख-समृद्धि घट रही है या आपके द्वारा अर्जित किए गए ज्ञान में कमी आ रही है तो आपको पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करने से लाभ होगा। धन के साथ साथ मान-सम्मान तथा सुख शांति की प्राप्ति होगी, जो जातक जीवन में तरक्की करना चाहता है उसको बिना संकोच पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। इस रुद्राक्ष के प्रभाव से जातक के जीवन में सकारात्मक बदलाव आते है और जातक ऐशो-आराम का जीवन व्यतीत करने में कामयाब होते है।

वैवाहिक जीवन में मधुरता

आजकल जिस घर में भी देखे सास-बहु की लड़ाई, पति-पत्नी की लड़ाई सुनाई देती है, लोगों के जीवन में वैवाहिक सुख में कमी के साथ साथ मानसिक तनाव बढ़ रहा है। ऐसे में पांच मुखी रुद्राक्ष ही ऐसा रुद्राक्ष है जो आपको वैवाहिक जीवन का सुख दे सकता है इसलिए जो जातक अपने दाम्पत्य जीवन से नाखुश है, पति-पत्नी के बीच वैचारिक मतभेद उत्पन्न हो रहे है, अलगाव की स्थिति उत्पन्न हो रही है, तो ऐसे नाजुक समय का सामना करने से बचने के लिए तथा अपने वैवाहिक जीवन में रस भरने के लिए पांच मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए, इस रुद्राक्ष के प्रभाव से वैवाहिक जीवन का भरपूर सुख मिलता है, पति-पत्नी के बीच प्रेम बढ़ता है। वैवाहिक जीवन में मधुरता आती है।

संबंधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Me gusta और Seguir करें: Astrologer en Facebook

अभी अभिमंत्रित पांच मुखी रुद्राक्ष आर्डर करें