Saltar al contenido

पति की लंबी उम्र की कामना के लिए सुहागिन स्त्रियां रखती हैं करवा चौथ …

पति की लंबी उम्र की कामना के लिए सुहागिन स्त्रियां रखती हैं करवा चौथ ...

हिंदू धर्म में अनेक व्रत और त्‍योहार आते हैं और इनमें से कई पति की लंबी उम्र के लिए होते हैं। आपने पति की लंबी उम्र की कामना करने के लिए स्त्रियों द्वारा रखे जाने वाले कई व्रतों के बारे में सुना होगा लेकिन इन सबमें करवा चौथ का व्रत सबसे ज्‍यादा लोकप्रिय माना जाता है।

करवा चौथ व्रत का महत्‍व

छांदोग्‍य उपनिषद् के अनुसार चंद्रमा में पुरुष रूपी ब्रह्मा की उपासना करने से सभी तरह के पाप नष्‍ट हो जाते हैं। साथ ही ये जीवन में कई प्रकार के दुखों का भी नाश करता है। करवा चौथ का व्रत रखकर सौभाग्‍यवती स्त्रियां अपने पति की दीर्घ और लंबी आयु की कामना करती हैं। करवा चौथ के व्रत में शिव, पार्वती, कार्तिकेय, गणेश ओर चंद्रमा का पूजन किया जाता है।

करवा चौथ व्रत 2018

साल 2018 में करवा चौथ का व्रत 27 अक्‍टूबर, शनिवार को पड़ रहा है।

करवा चौथ पूजन मुहूर्त: 17,36 से 18,54 तक

चंद्रोदय: 20.00

चतुर्थी तिथि आरंभ: 18,37 (27 अक्‍टूबर)

चतुर्थी तिथि समाप्‍त: 16,54 (28 अक्‍टूबर)

करवा चौथ व्रत की पूजन विधि

कुमकुम, शहद, अगरबत्ती, पुष्‍प, कच्‍चा दूध, शक्‍कर, शुद्ध घी, दही, मेहंदी, मिठाई, गंगाजल, चंदन, चावल, सिंदूर, मेहंदी, महावर, कंघी, बिंदी, चुनरी, चूड़ी, बिछुआ, मिट्टी के टोंटीदार करवे और ढक्‍कन , दीपक, रूई, कपूर, गेहूं, शक्‍कर का बूरा, हल्‍दी, पानी का लोटा, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, लकड़ी का आसन, छलनी, आठ पूरियों की अठावरी, हलुआ, दक्षिणा के लिए पैसे।

करवा चौथ की पूजन विधि

घर की किसी दीवार पर गेरू से फलक बनाकर पिसे चावलों के घोल से करवा का चित्र बनाएं। इसे वर कहा जाता है एवं चित्र बनाने की कला को करवा धरना कहा जाता है। इस दिन आठ पूरियों की अठावरी और हलवा और पकवान बनाएं।

पीले रंग की मिट्टी से गौरी जी की मूर्ति बनाएं और गणेश जी की मूर्ति बनाकर उसे मां गौरी की गोद में बिठाएं। एक चौक बनाकर उस पर लकड़ी का आसन रखें और उस पर मां गौरी की प्रतिमा रखें। मां गौरी को चुनरी ओढ़ाएं और उन्हें सुहाग की वस्तुएं चढ़ाएं। एक जल से भरा हुआ लोटा रखें।

Reserva Puja en línea

भेंट देने के लिए मिट्टी का टोंटीदार करवा लें। करवा पर गेहूं और ढक्कन में शक्कर का बूरा रख दें। इसके ऊपर दक्षिणा रख दें। अब रोली से करवे पर स्‍वास्तिक बनाएं। मां गौरी और भगवान गणेश के साथ बनाए गए चित्र की पूजन करें और अपने पति की दीर्घायु की कामना करें।

‘नमः शिवायै शर्वाण्यै सौभाग्यं संतति शुभाम्‌। प्रयच्छ भक्तियुक्तानां नारीणां हरवल्लभे॥ ‘

करवे पर 13 बिंदी रखें और गेहूं या चावल के 13 दाने हाथ में लेकर करवा चौथ की कथा सुनें और कहें। कथा सुनने के बाद अपनी सास के पैर छुएं। 13 दाने और टोंटीदार करवे को अलग रखें। रात्रि में चंद्रोदय होने पर छलनी से चंद्रमा को देखें और उसे अर्घ्य दें। अब पति से आशीर्वाद लें और भोजन ग्रहण करें।

करवा चौथ के व्रत से क्या मिलता है फल

इस व्रत को करने से सुहागिन स्त्रियों के पति की दीर्घायु, सुख-समृद्धि और स्वस्थ जीवन की प्राप्ति होती है। मान्यता है कि इस व्रत को करने से महिलाओं को अखंड सौभाग्य मिलता है।

करवा चौथ के व्रत में ध्यान रखें ये बातें

इस व्रत को केवल सुहागिन स्त्रियां ही रख सकती हैं या जिनका रिश्ता तय हो चुका हो, वे कन्याएं भी इस व्रत को रख सकती हैं। व्रत के दिन काले और सफेद रंग के वस्त्र नहीं पहनने चाहिए। लाल और पीले रंग के वस्त्र पहनना शुभ रहता है।

Software de Kundli

करवा चौथ से जुड़ी पौराणिक कथा

करवा चौथ को लेकर पौराणिक कथा का संबंध महाभारत काल से है। पांचों पांडवों में से एक अर्जुन तपस्‍या करने नीलगिरी पर्वत पर गए। उस समय बाकी पांडवों पर कई तरह के संकट आने लगे। तब द्रौपदी ने भगवान कृष्‍ण से अपने पतियों की रक्षा के लिए उपाय पूछा।

श्रीकृष्‍ण ने बताया कि कार्तिक कृष्‍ण चतुर्थी के दिन करवा चौथ का व्रत करने से पति पर आने वाली हर विपत्ति टल जाती है। द्रौपदी ने इस तिथि को पूरी विधि से करवा चौथ का व्रत रखा और इस व्रत के प्रभाव से पांडवों के सारे संकट दूर हो गए। हर सुहागिन स्‍त्री को करवा चौथ का व्रत रखना होगा है।

Horóscopo 2019

करवा चौथ पर व्रत का फल

करवा चौथ को हिंदुओं का पवित्र और महत्‍वपूर्ण व्रत एवं त्‍योहार माना जाता है। कार्तिक महीने के कृष्‍ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को इस व्रत को करने का विधान है। इस दिन सुहागिन स्त्रियां अपने पति की लंबी आयु की कामना के लिए व्रत रखती हैं और रात्रि में चांद को अर्घ्‍य देकर व्रत खोलती हैं। इस व्रत को पति की लंबी आयु और सुखी वैवाहिक जीवन की कामना के लिए रखा जाता है।

कई कुंवारी लड़कियां भी मनचाहा वर या उत्तम वर की प्राप्‍ति के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं। वैसे तो इस पर्व को पूरे भारत में मनाया जाता है लेकिन उत्तर भारत में ये व्रत कुछ ज्‍यादा ही उत्‍साह और जोर-शोर के साथ मनाया जाता है।

करवा चौथ के दिन कई तरह के नियमों का पालन भी करना होता है। यदि आप अपने पति की लंबी उम्र और स्वस्थ जीवन की कामना करती हैं तो आपको ये व्रत अवश्य रखना चाहिए। हिंदू धर्म का पालन करने वाली हर महिला करवा चौथ का व्रत जरूर रखती है।

Comprar Gauri shankar rudraksha

अगर आप भी अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं तो इस साल 27 अक्‍टूबर को करवा चौथ का व्रत जरूर रखें।

किसी भी जानकारी के लिए Llamada करें: 8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Me gusta और Seguir करें: Astrólogo en línea