Saltar al contenido

जानिए स्त्रियां क्‍यों नहीं कर सकती गायत्री मंत्र का जाप

जानिए स्त्रियां क्‍यों नहीं कर सकती गायत्री मंत्र का जाप

ज्‍योतिषशास्‍त्र के अनुसार देवी-देवताओं को प्रसन्‍न करने के लिए कई तरह के मंत्रों की रचना की गई है जिनमें सर्वोपरि गायत्री मंत्र है। गायत्री मंत्र का जाप भगवान शिव को प्रसन्‍न करने के लिए किया जाता है एवं इस मंत्र के जाप से जीवन के कई सारे कष्‍ट दूर हो जाते हैं।

गायत्री मंत्र को सर्वशक्‍तिशाली माना जाता है और किसी भी मनोकामना की पूर्ति के लिए आप इस मंत्र का जाप कर सकते हैं। गायत्री मंत्र की शक्‍तियों से पूरी दुनिया वाकिफ है। इस मंत्र में अनेक शक्तियां विद्यमान हैं जिनका अहसास आपको इसका जाप करने के बाद ही होगा।

किसने की थी गायत्री मंत्र की रचना

भगवान शिव को प्रसन्‍न करने के लिए उनके परम् भक्‍त रावण ने गायत्री मंत्र की रचना की थी। ब्रह्मऋषि विश्वामित्र द्वारा ऋग्वेद में भी इस मंत्र को उल्लेखित करवाया गया था। रावण एक बहुत बड़ा महापंडित था जिसने भगवान शिव को प्रसन्‍न करने के लिए इस मंत्र की रचना की थी। रावण की तपस्‍या और भक्‍ति से प्रसन्‍न होकर भगवान शिव ने रावण को कई वरदान और शक्‍तियां भी प्रदान की थीं।

Comprar Ruby en línea

पुरुष कर सकते हैं जाप

कहते हैं कि इस मंत्र का स्‍थान उच्‍च है और इसीलिए गायत्री मंत्र का जाप सिर्फ पुरुषों को करना चाहिए। मान्‍यता है कि इस मंत्र का जाप केवल उन लोगों का करना चाहिए जिन्‍होंनें जनेऊ धारण कर रखा हो।

भगवान शिव के अलावा इनका भी है मंत्र

भगवान शिव के अलावा गायत्री मंत्र सूर्य देव को भी समर्पित है। अत: सूर्य देव से ही संबंधित होने के कारण ऐसा माना जाता है कि सूर्योदय और सूर्यास्‍त के समय ही इस मंत्र का जाप करना चाहिए। ऐसा करने से सर्वाधिक पुण्‍य की प्राप्‍ति होती है। अगर आप जीवन में सफलता पाना चाहते हैं तो इस मनोकामना की पूर्ति के लिए आपको सूर्य देव को प्रसन्‍न करना चाहिए। सूर्य देव की कृपा पाने के लिए गायत्री मंत्र का जाप करना फलदायी रहता है। करियर में तरक्‍की के लिए गायत्री मंत्र का जाप करना शुभ फलदायी रहता है।

Comprar Mahalaxmi yantra

गायत्री मंत्र से जुड़ी खास बात

इस मंत्र से जुड़े कुछ ऐसे तथ्‍य भी हैं जिनके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं। इनमें से एक तथ्‍य है स्त्रियों का गायत्री मंत्र का जाप न करना। शास्‍त्रों के अनुसार स्त्रियों को गायत्री मंत्र का जाप नहीं करना चाहिए। इस तथ्‍य के पीछे धर्म के साथ-साथ चिकित्‍सकीय कारण भी है।

महिलाएं क्‍यों नहीं करती मंत्र का जाप

मान्‍यता है कि सदियों पहले स्त्रियां भी जनेऊ धारण करती थीं और पुरुषों की भांति धार्मिक कार्यों में हिस्‍सा भी लेतीं थीं लेकिन कुछ समय के पश्‍चात् स्थिति बिलकुल बदल गई।

Horóscopo 2019

ये है मंत्र जाप ना करने की वजह

स्त्रियों के गायत्री मंत्र का जाप न करने के पीछे का सबसे बड़ा कारण महिलाओं को होने वाला मासिक धर्म है। हिंदू धर्म के अनुसार मासिक धर्म के दौरान स्त्रियों को किसी भी तरह के धार्मिक कार्य और पूजा में हिस्‍सा नहीं लेना चाहिए। इसलिए स्त्रियों को गायत्री मंत्र का जाप नहीं करना चाहिए।

जाप करने पर क्‍या होता है

कहते हैं कि अगर कोई स्‍त्री गायत्री मंत्र का जाप करती है तो वह पुरुष की तरह व्‍यवहार करने लगती है। इतना ही नहीं इसका असर उसके शारीरिक अंगों और त्‍वचा पर भी पड़ता है। चेहरे पर अनचाहे बाल आना और मासिक धर्म में दिक्‍कत आना भी गायत्री मंत्र का जाप करने का ही प्रभाव माना जाता है।

Comprar Gauri shankar rudraksha

गर्भवती महिला पर प्रभाव

कहते हैं कि यदि कोई स्‍त्री गर्भवती है या फिर बच्‍चे को जन्‍म दे चुकी है तो उसे गायत्री मंत्र का जाप करने से दूध आने में कठिनाई होती है या दूध का स्राव पहले से काफी कम हो जाता है।

ये सब तो सुनी-सुनाई बातें हैं किंतु इसमें कितनी सच्‍चाई है ये तो कोई नहीं जानता। हिंदू धर्म में अनेक देवी-देवताओं के पूजन और मंत्र जाप को लेकर कई तरह की भ्रांतियां फैली हुई हैं जिनमें से शायद ये भी एक है कि महिलाओं को गायत्री मंत्र का जाप नहीं करना चाहिए।

Piedras preciosas Rashi

इस बात का कोई प्रमाणिक तथ्‍य उपलब्‍ध नहीं है कि स्त्रियों को गायत्री मंत्र का जप नहीं करना चाहिए और इसके ऐसे प्रभावों के बारे में भी किसी शास्‍त्र में उल्‍लेख नहीं मिलता है।

किसी भी जानकारी के लिए Llamada करें: 8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Me gusta और Seguir करें: Astrólogo en línea