Saltar al contenido

जानिए कुंडली में कौन-सा ग्रह देता है कैसा प्रभाव

जानिए कुंडली में कौन-सा ग्रह देता है कैसा प्रभाव

ज्‍योतिषशास्‍त्र में नौ ग्रहों का उल्‍लेख किया गया है। इन नौ ग्रहों की स्थिति और दशा के अनुसार मनुष्‍य के जीवन में घटनाएं घटित होती हैं। कुंडली पर नौ ग्रहों का प्रभाव होता है। जन्‍म समय और स्थिति के अनुसार बनाई जाने वाली कुंडली 12 भावों में विभाजित होती है।

कुंडली के इन 12 भावों में नौ ग्रहों की अलग-अलग स्थितियां रहती हैं। ये सभी ग्रह अपनी स्थिति और स्‍वभाव के अनुसार शुभ-अशुभ फल देते हैं। कुंडली में जो ग्रह शुभ स्‍थान में होता है वो हमें अच्‍छे फल देता है और जो बुरी स्थिति में बैठा होता है वो बुरा फल देता है।

सभी ग्रहों को अलग-अलग क्षेत्र प्राप्‍त होता है। आज हम आपको बता रहे हैं कुंडली के 12 भावों में बैठने वाले नौ ग्रह क्‍या और कैसा प्रभाव देते हैं।

नौ ग्रहों का प्रभाव में सूर्य ग्रह

सूर्य हमें यश, सम्‍मान और कीर्ति देता है। कुंडली में सूर्य की शुभ स्थिति में हमें समाज में मान-सम्‍मान और प्रसिद्धि मिलती है। वहीं अगर सूर्य अशुभ हो तो जातक को अपमान जैसे विपरीत फल की प्राप्‍ति होती है।

सूर्य की कृपा प्राप्‍त करने के लिए पहनें माणिक्‍य

चंद्र का प्रभाव

चंद्रमा को मन का प्रतीक बताया गया है और इसका संबंध मन से होता है। चंद्रमा के अच्‍छी स्थि‍ति में होने पर जातक शांत रहता है लेकिन चंद्रमा का अशुभ प्रभाव मानसिक तनाव उत्‍पन्‍न करता है और व्‍यक्‍ति अपने निर्णय नहीं ले पाता है।

कुंडली में मंगल

मंगल व्‍यक्‍ति के धैर्य और पराक्रम को नियंत्रित करता है। अगर मंगल शुभ हो तो व्‍यक्‍ति कुशल प्रबंधक बनता है और उसे भूमि से संबंधित कार्यों में लाभ मिलता है।

Tránsito de Júpiter 2018

बुध ग्रह

बुध ग्रह व्‍यक्‍ति की वाणी पर प्रभाव डालता है और इसका प्रभाव बुद्धि पर भी देखा जाता है। कुंडली में बुध के शुभ स्‍थान में होने पर बुद्धि शुद्ध और पवित्र हो जाती है।

Kundali libre

गुरु का असर

बृहस्‍पति ग्रह को देवताओं का गुरु कहा जाता है और इसी वजह से इस ग्रह का नाम गुरु भी है। ये ग्रह व्‍यक्‍ति की धार्मिक भावनाओं को नियंत्रित करता है। इसे भाग्‍य और विवाह का कारक भी कहा जाता है। अगर किसी व्‍यक्‍ति की कुंडली में गुरु शुभ है तो उसका वैवाहिक जीवन श्रेष्‍ठ रहता है।

शुक्र का प्रभाव

शुभ शुक्र से प्रभावित व्‍यक्‍ति कलाप्रेमी, सुंदर, आकर्षक और ऐश्‍वर्य प्राप्‍त करने वाला होता है। धन से संबंधित मामलों में भी ये लोग भाग्‍यवान रहते हैं। इन्‍हें अपने जीवन में हर तरह का भौतिक सुख प्राप्‍त होता है।

शनि देव

शनि के शुभ होने का अ‍र्थ है सभी तरह के सुखों को प्राप्‍त करना। शनि की शुभ स्थिति व्‍यक्‍ति को बलवान और शक्‍तिशाली बनाती है। वहीं दूसरी ओर शनि के अशुभ प्रभाव देने पर जातक को जीवन के हर क्षेत्र में कष्‍ट सहना पड़ता है।

Horóscopo 2018

कुंडली में राहू का असर

कुंडली में राहू के बलशाली होने पर व्‍यक्‍ति का स्‍वभाव कठोर बन जाता है। ऐसा व्‍यक्‍ति बलशाली होता है। ये प्रखर बुद्धि वाले होते हैं। राहू का अशुभ प्रभाव कई तरह की परेशानियां खड़ी कर देता है।

केतु का प्रभाव

केतु के शुभ प्रभाव में व्‍यक्‍ति गरीबों का हित करता है। वहीं इसके अशुभ प्रभाव में व्‍यक्‍ति बुरी आदतों से ग्रस्‍त रहता है बुरे व्‍यसनों में लिप्‍त रहता है।

किसी भी जानकारी के लिए Llamada करें: 8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Me gusta और Seguir करें: Página de Facebook de AstroVidhi