Saltar al contenido

कुंडली के इस घर में बैठा हो बुध तो ही पहनें पन्‍ना रत्‍न

कुंडली के इस घर में बैठा हो बुध तो ही पहनें पन्‍ना रत्‍न

बुध ग्रह ज्ञान का कारक है। यह ग्रह विद्वता, वाद-विवाद करने की क्षमता देता है। साथ ही इसके प्रभाव में जातक के दांत, गर्दन, कंधे और त्‍वचा पर असर पड़ता है। इस ग्रह का रत्‍न है पन्‍ना जो हरे चमकदार रंग का होता है

बुध ग्रह कन्‍या राशि में उच्‍च और मीन राशि में नीच का माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि अगर कम्‍प्‍यूटर पर काम करते हुए या पढ़ते हुए आंखें थक जाएं तो पन्‍ने को आंखों पर रखने से वह तरोताजा हो जाती हैं।

पन्‍ना रत्‍न बुध ग्रह से संबंधित अच्‍छे फल प्रदान करता है। ऐसा माना जाता है कि पन्‍ना कोई भी पहने उसे लाभ अवश्‍य होता है लेकिन कुंडली में निम्‍न प्रकार की स्‍थितियां होने पर इसे पहनना ज्‍यादा फलदायी होता है।

पन्‍ना रत्न को आर्डर करने के लिए क्लिक करे

Horóscopo semanal

कब पहनें ये रत्‍न

– यह बुध का रत्‍न है और बुध मिथुन और कन्‍या राशि का स्‍वामी है। इसलिए मिथुन और कन्‍या लग्‍न की कुंडली के जातकों के लिए इसे पहनना बहुत लाभदायक होता है।

– यदि बुध कुंडली में छठे और आठवें भाव में हो तो भी ये रत्‍न पहनना फायदा पहुंचाता है। इन दो भावों में बुध के विराजमान होने पर जातक को पन्‍ना रत्‍न धारण करने से विभिन्‍न क्षेत्रों में सफलता मिलती है।

– बुध अगर कुंडली में मीन राशि में हो तो भी पन्‍ना पहनना अच्‍छा होता है। अगर आपकी कुंडली में मीन राशि में बुध बैठा है तो आप आराम से इस रत्‍न को धारण कर सकते हैं।

Obtenga Janam Kundali gratis en línea

हिंदू पंचांग 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

कौन कर सकता है धारण

– कुंडली में धनेष बुध नौवे स्‍थान में हो तो पन्‍ना पहनना लाभ देता है।

– सातवें भाव का स्‍वामी बुध दूसरे भाव में, नवें भाव का स्‍वामी बुध चौथे भाव में या भाग्‍येश बुध छठें भाव में हो तो पन्‍ना पहन कर बहुत लाभ प्राप्‍त किया जा सकता है।

Piedras preciosas semipreciosas

– बुध की महादशा और अंतरदशा में भी पन्‍ना पहनना अच्‍छा होता है। अगर आपकी बुध की महादशा और अंतर्दशा चल रही है तो आपको बुध का ये रत्‍न धारण करना चाहिए।

– जन्‍मकुंडली में बुध श्रेष्‍ठ भाव में अर्थात 2,3,4,5,7,9,10 और 11 में से किसी का स्‍वामी हो और अपने से छठे भाव में हो तो भी इस रत्‍न को पहनना बहुत अच्‍छा होता है।

कुंडली में इस ग्रह की स्थिति

– अगर कुंडली में बुध मंगल, शनि, राहु अथवा केतु के साथ स्थित हो तो पन्‍ना पहनना चाहिए।

– अगर बुध पर शत्रु ग्रह की दृष्‍टि हो तो भी पन्‍ना पहनना चाहिए।

– व्‍यापार-वाणिज्‍य, गणित व एकाउंटेंसी संबंधी कार्य से जुड़े लोग पन्‍ना अवश्‍य धारण करें। इससे अच्‍छे फल प्राप्‍त होंगे।

Horóscopo diario

कहां से लें

किसी भी रत्‍न को धारण करने से पूर्व उसके अधिष्‍ठाता ग्रह के मंत्रों से अभिमंत्रित करवाना आवश्‍यक होता है। बिना अभिमंत्रित किए कोई भी रत्‍न लाभ नहीं पहुंचा सकता है। इसलिए अगर आप किसी रत्‍न से लाभ चाहते हैं तो आपको उसे अभिमंत्रित करना होगा।

आप Astrovidhi.com से अभिमंत्रित पन्‍ना रत्‍न ऑर्डर कर सकते हैं। Astrovidhi.com से ऑर्डर किए गए सभी रत्‍न GTL और GLIA द्वारा सर्टि‍फाइड होते हैं इसलिए आपको इसकी गुणवत्ता की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है।

किसी भी जानकारी के लिए Llamada करें: 8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Me gusta और Seguir करें: Astrólogo en Facebook