Saltar al contenido

ऐसे घरों में रहती है मां लक्ष्‍मी की बहन अलक्ष्‍मी, लाती है खूब गरीबी

ऐसे घरों में रहती है मां लक्ष्‍मी की बहन अलक्ष्‍मी, लाती है खूब गरीबी

धन की देवी मां लक्ष्‍मी की बड़ी बहन हैं अलक्ष्‍मी जोकि दरिद्रता और गरीबी देती हैं। मां लक्ष्‍मी का पूजन करने से घर-परिवार में सुख-समृद्धि और धन आता है, वहीं इसके विपरीत है देवी लक्ष्‍मी की बहन अलक्ष्‍मी जो जहां वास करें वहां गरीबी और दरिद्रता छा जाती है।

कैसे हुआ देवी अलक्ष्‍मी का जन्‍म

किवदंती है कि मां लक्ष्‍मी की तरह देवी अलक्ष्‍मी का जन्‍म भी समुद्र मंथन से हुआ था। इसी वजह से देवी अलक्ष्‍मी को मां लक्ष्‍मी की बड़ी बहन कहा जाता है। देवी अलक्ष्‍मी का विवाह उद्दालक नाम के मुनि से हुआ था। जब मुनि देवी को अपने साथ अपने आश्रम लेकर गए तो देवी अलक्ष्‍मी ने उस आश्रम में प्रवेश करने से मना कर दिया।

मुनि के इसका कारण पूछने पर उन्‍होंने बताया कि वो कैसे घरों में प्रवेश करती हैं और कैसी जगहों पर उनका वास होता है। देवी अलक्ष्‍मी द्वारा बताई गई इन बातों से आप आसानी से धन हानि को रोक मां लक्ष्‍मी की कृपा सकते हैं।

ऐसा कहा जाता है कि जिस घर या दुकान में देवी अलक्ष्‍मी ने डेरा डाल लिया वहां धन-धान्‍य सब कुछ नष्‍ट हो जाता है। इसके अलावा शास्‍त्रों में बताया गया है कि जिन घरों में कुछ कार्य किए जाते हैं वहां अलक्ष्‍मी का वास होता है। आइए जानते हैं कि कैसे घर में देवी अलक्ष्‍मी वास करती हैं।

गंदे घर में अलक्ष्‍मी

जैसा कि हमने पहले भी बताया कि देवी अलक्ष्‍मी दरिद्रता देती हैं और दरिद्रता का संबंध गंदगी से भी है इसलिए जिस घर में गंदगी रहती है वहां पर देवी अलक्ष्‍मी का वास होता है। जिस परिवार में हमेशा लड़ाई-झगड़ा रहता हो और लोग गंदे-मैले कपड़े पहकनर रहते हों, वहां पर हमेशा गरीबी रहती है।

यहां होता है लक्ष्‍मी का वास

जिस घर में लोग सुबह उठकर स्‍नान कर पूजा-अर्चना करते हैं और सुबह ही पूरे को साफ करते हैं और रोज़ नहाने के बाद साफ कपड़े पहनते हों वहां पर देवी अलक्ष्‍मी की बहन मां लक्ष्‍मी का वास होता है। ऐसे घर में धन-धान्‍य खूब बरसता है।

नीबू-मिर्ची

शास्‍त्रों के अनुसार देवी अलक्ष्‍मी को खट्टी चीज़ें पसंद हैं और इसीलिए घर-दुकान के दरवाज़े पर नीबू-मिर्ची टांगा जाता है ताकि दरवाज़े पर ही अपनी प्रिय वस्‍तु को देखकर अलक्ष्‍मी वहीं से लौट जाएं और घर के अंदर प्रवेश ना करें।

अलक्ष्‍मी की कृपा

अगर किसी व्‍यक्‍ति को अत्‍यंत प्रयास और मां लक्ष्‍मी का पूजन करने के बाद भी धन का नुकसान हो रहा है तो ऐसे व्‍यक्‍ति पर देवी अलक्ष्‍मी की कृपा होती है।

कैसे बचें

देवी अलक्ष्‍मी को अपने घर-परिवार से दूर रखने के लिए कुछ बातों का ध्‍यान रखें। अपने घर या दुकान में मां लक्ष्‍मी की ऐसी कोई तस्‍वीर ना लगाएं जिसमें दो उल्‍लू बैठे हों। ऐसी लक्ष्‍मी को चंचल स्‍वभाव का माना जाता है जो कभी किसी के पास नहीं टिकती है। मां लक्ष्‍मी की खड़ी मूर्ति भी रखना अशुभ माना जाता है।

किसी भी जानकारी के लिए Llamada करें: 8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Me gusta और Seguir करें: Página de Facebook de AstroVidhi