Saltar al contenido

इन तीन बातों से जान सकते हैं कैसे होगी आपकी मृत्‍यु

इन तीन बातों से जान सकते हैं कैसे होगी आपकी मृत्‍यु

गरुड़ पुराण के अनुसार मनुष्‍य के अच्‍छे और बुरे कर्म ही उसके सुखद और दुखद मृत्‍यु का कारण बनते हैं। गरुड़ पुराण में स्‍वर्ग, नर्क, जीवन और मृत्‍यु के बारे में कई बातों का विस्‍तार से वर्णन किया गया है।

इस पुराण में बताई गई बातों से आप बड़ी आसानी से जान सकते हैं कि किस इंसान की मौत कैसे हो सकती है। जी हां, इस पुराण में मृत्‍यु से संबंधित कुछ ऐसी बातें बताई गईं हैं जिनके अनुसार आप इस बात को अंदाज़ा लगा सकते हैं कि किस इंसान की मृत्‍यु कैसे होगी।

तो चलिए जानते हैं मृत्‍यु से जुड़ी ये तीन खास बातें…

सत्‍य वचन बोलने वाले की मृत्‍यु

गरुड़ पुराण के अनुसार जो व्‍यक्‍ति हमेशा सच बोलता है और भगवान में आस्‍था रखता है और किसी को धोखा नहीं देता या किसी का दिल नहीं दुखाता और मुश्किल समय में भी ईश्‍वर पर आस्‍था रखता है उसकी मृत्‍यु सुखद होती है। इस बात से पता चलता है कि अगर आप जीवन में अच्‍छे कर्म करेंगें और किसी को हानि या ठेस नहीं पहुंचाएंगें तो आपकी मृत्‍यु सुखद होगी यानि की आपको मृत्‍यु के समय किसी भी तरह का कोई रोग या कष्‍ट नहीं होगा।

Software Janam Kundali

द्वेष रखने वालों की मृत्‍यु

गरुड़ पुराण की मानें तो दूसरों को आसक्‍ति, मोह का उपदेश देने वाले, दूसरों के बीच अविद्या, द्वेष, स्‍वार्थ और लालच जैसी बुरी भावनाएं रखने वाले व्‍यक्‍ति की मौत दुखद होती है। ऐसे लोगों को मौत के समय अत्‍यंत कष्‍टों का सामना करना पड़ता है। ऐसे समय में व्‍यक्‍ति को किसी तरह का भयंकर रोग हो सकता है जिसकी वजह से उनकी मौत हो या फिर किसी दुर्घटना में दर्दनाक मौत मिल सकती है।

झूठ बोलने वाले लोगों की मृत्‍यु

गरुड़ पुराण के अनुसार झूठ बोलने वाले, झूठी गवाही देने वाले या किसी का भरोसा तोड़ने वाले, शास्‍त्र और वेदों की बुराई करने वाले, ईश्‍वर में भरोसा ना रखने वाल लोगों की मौत सबसे ज्‍यादा दुखद होती है। ऐसे लोगों को लेने के लिए भयानक यमदूत आते हैं। मौत के समय इनकी आंखें घूमने लगती हैं मुंह का पानी सूख जाता है और सांस बढ़ जाती है। मौत के समय ऐसे लोगों की दुर्गति होती है। इन सभी तरह के कष्‍टों से दुखी होकर ये लोग अपने प्राण त्‍यागते है।

अब तो आप जान गए ना कि क्‍यों कहा जाता है कि ‘अंतिम समय में सिर्फ आपके कर्म ही काम आते हैं’। जी हां, ये बात बिलकुल सत्‍य है कि आपकी अंतिम सांस तक आपके केवल कर्म ही काम आएंगें।

राशि रुद्राक्ष प्राप्त करें

अगर आप अकाल मृत्‍यु या दुखद मौत से बचना चाहते हैं तो आपको महामृत्‍यंजय मंत्र के जाप के साथ-साथ महामृत्‍युंजय पूजा करवानी चाहिए। इस पूजा से ना केवल आपको अकाल मौत से मुक्‍ति मिलेगी बल्कि मृत्‍यु और जीवन से संबंधित सभी तरह के कष्‍टों से आपको मुक्‍ति मिल जाएगी।

आप ये पूजा AstroVidhi द्वारा पं. सूरज शास्‍त्री से भी करवा सकते हैं। सबसे खास बात ये है कि AstroVidhi द्वारा करवाई गई किसी भी पूजा में आप ऑनलाइन घर बैठे ही शामिल हो सकते हैं। महामृत्‍युंजय पूजा के लिए इस नंबर पर कॉल करें – 8448891194