Saltar al contenido

आपके सभी कष्टों को मिटा देगी ये माला, जानिये पूजन और प्रयोग विधि

आपके सभी कष्टों को मिटा देगी ये माला, जानिये पूजन और प्रयोग विधि

हिंदू धर्म में पूजा-पाठ का विशेष महत्‍व है। अपने ईष्‍ट देव को प्रसन्‍न करने के लिए कई उपाय और तरीके अपनाए जाते हैं। हर एक देवी-देवता को प्रसन्‍न करने की पूजन विधि और तरीका अलग-अलग है।

सभी के मंत्र भी अलग-अलग हैं। मंत्रों के जाप से देवी-देवता अतिशीघ्र प्रसन्‍न होते हैं लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि किस देवी-देवता को प्रसन्‍न करने के लिए उनके मंत्रों का जाप किस माला से करना सबसे उत्तम रहता है।

तो चलिए आज हम आपको इसी तथ्‍य से अवगत कराते हैं।

भगवान शिव

रुद्राक्ष को भगवान शिव का स्‍वरूप कहा जाता है। रुद्राक्ष की माला से भगवान शिव के मंत्रों का जाप करना आपकी हर मनोकामना को पूर्ण करता है। भगवान शिव को प्रसन्‍न करने के लिए रुद्राक्ष की माला से शिव के मंत्रों का जाप करें।

अभिमंत्रित गोल्‍ड प्‍लेटेड रुद्राक्ष की माला प्राप्‍त करने के लिए यहां क्‍लिक करें

Puja en línea

मां लक्ष्‍मी

– मां लक्ष्‍मी के मंत्रों का जाप करने के लिए स्‍फटिक की माला का प्रयोग करें। इससे शीघ्र ही आपको शुभ फल प्राप्‍त होते हैं। स्‍फटिक की माला के प्रयोग से दरिद्रता दूर होती है और घर में सुख-समृद्धि आती है। यदि आप स्‍फटिक की माला का प्रयोग करते हैं तो केवल आपका ही नहीं बल्कि आपके पूरे परिवार का स्‍वास्‍थ्‍य ठीक रहता है।

अभिमंत्रित स्‍फटिक की माला प्राप्‍त करने के लिए यहां क्‍लिक करें

मां दुर्गा

– मां दुर्गा की आराधना में लाल चंदन की माला का प्रयोग करें। लाल चंदन की माला से मां दुर्गा के मंत्रों का जाप करने से मां दुर्गा जल्‍द ही प्रसन्‍न होती हैं और आपकी मनोकामना पूर्ति का वरदान प्रदान करती हैं। देवी के जाप के लिए लाल चन्दन की माला सर्वोत्तम माला मानी गयी है | मंगल शान्ति के लिए लाल चन्दन की माला धारण करना आवाश्यक है | लाल चन्दन की माला सकारात्मकता प्रदान करती है | संपत्ति और समृद्धि पाने के लिए लाल चन्दन की माला धारण करनी चाहिए ||

हिंदू पंचांग 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

अभिमंत्रित लाल चंदन की माला प्राप्‍त करने के लिए यहां क्‍लिक करें

मां काली

– तंत्र क्रियाओं की देवी मां काली की उपासना में तुलसी की माला प्रयोग करें। तुलसी की माला में विद्युत शक्‍ति होती है। तुलसी की माला भोजन करते समय शरीर पर होने से अनेक यज्ञों का पुण्य मिलता है। मान्‍यता है कि जो भी कोई तुलसी की माला पहनकर नहाता है, उसे सारी नदियों में नहाने का पुण्य मिलता है।

अभिमंत्रित तुलसी की माला प्राप्‍त करने के लिए यहां क्‍लिक करें

लक्ष्‍मीनारायण

– धन की देवी मां लक्ष्‍मी और उनके पति भगवान विष्‍णु को प्रसन्‍न करने के लिए कमल के बीजों से बनी कमलगट्टे की माला का प्रयोग करें। कमलगट्टे की माला से मां लक्ष्‍मी के मंत्रों का जाप करें। जो व्‍यक्‍ति कमलगट्टे की माला धारण करता है उस पर माता लक्ष्मी प्रसन्न रहती हैं तथा अपने भक्तों को हमेशा धनधान्य से शोभित करती हैं।

Horóscopo mensual

अभिमंत्रित कमलगट्टे की माला प्राप्‍त करने के लिए यहां क्‍लिक करें

मंगल

कुंडली में नीच या अशुभ स्‍थान में बैठे मंगल को शांत करने के लिए मंगल ग्रह के मंत्रों का जाप लाल हकीक की माला से करें। मंगल ग्रह के दुष्‍प्रभावों से बचने के लिए इसको धारण किया जा सकता है। लाल हकीक की माला दुर्लभ होती है और इसे धारण किया जाए तो आत्‍मविश्‍वास में बहुत तेजी से इजाफा होता है। आत्‍मविश्‍वास के लिए इसे पहनना सबसे उचित माना गया है। पश्चिमी देशों में इस स्‍टोन को Energizar करके पहनने की सलाह तब दी जाती है जब व्‍यक्ति बिना किसी वजह के छोटी-छोटी बातों से घबराता है।

अभिमंत्रित लाल चंदन की माला प्राप्‍त करने के लिए यहां क्‍लिक करें

Piedras preciosas semipreciosas

किसी भी जानकारी के लिए Llamada करें: 8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Me gusta और Seguir करें: Astrólogo en Facebook