Saltar al contenido

अपनी राशि अनुसार पहनें रत्‍न और चमकाएं अपनी‍ किस्‍मत

अपनी राशि अनुसार पहनें रत्‍न और चमकाएं अपनी‍ किस्‍मत

ज्‍योतिषशास्‍त्र में रत्‍नों का बहुत महत्‍व है। रत्‍नों को अगर राशि के अनुसार पहना जाए तो ये दोगुना फायदा पहुंचाते हैं। राशि के अनुसार पहने गए रत्‍न आपके भाग्‍य में वृद्धि करने की शक्‍ति रखते हैं। शास्‍त्रों में भी इस बात का उल्‍लेख किया गया है कि राशि के अनुसार रत्‍न पहनने से उसके स्‍वामी ग्रह का शुभ फल प्राप्‍त होता है

हर एक राशि का एक भाग्‍य रत्‍न है जो उसकी किस्‍मत बदलने की शक्‍ति रखता है। आपकी राशि के लिए भी कोई न कोई चमत्‍कारिक रत्‍न अवश्‍य होगा। पहले आप अपने नाम से जानें कि आपकी क्‍या राशि है और फिर अपनी राशि के भाग्‍य रत्‍न के बारे में जानें।

तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि आपकी राशि के लिए कौन-सा रत्‍न सबसे उत्तम रहेगा

Puja en línea

मेष और वृश्‍िचक

जिन लोगों का नाम चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ अक्षर से शुरु होता है उनकी राशि मेष होती है एवं जिनका नाम तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू अक्षर से शुरु होता है उन लोगों की राशि वृश्चिक होती हैमेष और वृश्‍िचक राशि का स्‍वामी मंगल है इसलिए इन दोनों राशियों के जातकों को अपने जीवन में सफलता और खुशियां पाने के लिए मूंगा रत्‍न की अंगूठी पहननी चाहिए। पंचधातु में जड़ी मूंगा रत्‍न की अंगूठी पहनने से मेष और वृश्‍िचक राशि के लोगों के जीवन में सकरात्‍मक बदलाव आते हैं। इस अंगूठी को प्राप्‍त करने के लिए इस नंबर पर कॉल करें – 08882540540

मेष और वृश्चिक राशि के लिए अभिमंत्रित मूंगा रत्न की अंगूठी यहाँ से प्राप्त करें

वृषभ और तुला

जिन लोगों के नाम के पहले अक्षर में ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे आता है उनकी राशि वृषभ है एवं जिनका नाम रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते से शुरु होता है उन लोगों की राशि तुला है। वृषभ और तुला राशि का स्‍वामी शुक्र है इसलिए इन दोनों राशियों के लोगों को शुक्र का रत्‍न ओपल धारण करना चाहिए। ओपल को पंचधातु में धारण करने से वृषभ और तुला राशि के जातकों का जीवन समृद्ध बनता है और साथ ही उनके सारे कष्‍ट भी दूर होते हैं। इस अंगूठी को प्राप्‍त करने के लिए इस नंबर पर कॉल करें – 08882540540

वृषभ और तुला राशि के लिए अभिमंत्रित ओपल रत्न की अंगूठी धारण करें

Horóscopo diario

मिथुन और कन्‍या

अगर किसी का नाम का, की, कू, घ, ड़ छ, के, को, हा से शुरु होता है तो उस व्‍यक्‍ति की राशि मिथुन है एवं जिनके नाम के पहले अक्षर में टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो आता है उनकी कन्‍या राशि होती है। मिथुन और कन्‍या राशि का स्‍वामी बुध है अर्थात् इन दोनों राशियों के लोगों को बुध का चमत्‍कारी रत्‍न पन्‍ना धारण करना चाहिए। आप पन्‍ना रत्‍न पंचधातु में धारण करें। यदि मिथुन और कन्‍या राशि के लोग पन्‍ना रत्‍न पहनते हैं तो उनकी बौद्धिक क्षमता में इजाफा होता है। मिथुन और कन्‍या राशि के स्‍टूडेंट्स को पंचधातु में जड़ी पन्‍ना रत्‍न की अंगूठी जरूर धारण करनी चाहिए। इस अंगूठी को प्राप्‍त करने के लिए इस नंबर पर कॉल करें – 08882540540

मिथुन और कन्या राशि के लिए अभिमंत्रित पन्ना रत्न की अंगूठी धारण करें

कर्क राशि का रत्‍न

जिन जातकों का नाम ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो से शुरु होता है उनकी राशि कर्क है। कर्क राशि का स्‍वामी चंद्रमा है एवं चंद्रमा का रत्‍न है मोती। चंद्रमा मन का प्रतीक है एवं ये मनुष्‍य के चंचल मन को नियंत्रित करता है। कर्क राशि के जातकों को चांदी की धातु में मोती रत्‍न की अंगूठी पहननी चाहिए। चांदी में जड़ी मोती की अंगूठी धारण करने से कर्क राशि के जातकों का मानसिक संतुलन ठीक रहता है। इस अंगूठी को प्राप्‍त करने के लिए इस नंबर पर कॉल करें – 08882540540

कर्क राशि के लिए अभिमंत्रित मोती रत्न की अंगूठी धारण करें

सिंह राशि का भाग्‍य रत्‍न

मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे अक्षर से शुरु होने वाले नाम सिंह राशि के अंतर्गत आते हैं। सिंह राशि का स्‍वामी सूर्य देव हैं। इस राशि के लोगों को माणिक्‍य रत्‍न धारण करने से बहुत फायदा होता है। आप पंचधातु में जड़ी माणिक्‍य रत्‍न की अंगूठी धारण करें। सिंह राशि वाले जो लोग जीवन में बार-बार मिल रही असफलता के कारण परेशान हैं उन्‍हें अभी बिना कोई देर किए माणिक्‍य रत्‍न धारण करना चाहिए। इस अंगूठी को प्राप्‍त करने के लिए इस नंबर पर कॉल करें – 08882540540

सिंह राशि के लिए अभिमंत्रित माणिक्य रत्न की अंगूठी धारण करें

Horóscopo semanal

धनु और मीन राशि

जिन लोगों का नाम ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ड़ा, भे से शुरु होता है उनकी राशि धुन होती है एवं दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची से शुरु होने वाले नाम मीन राशि के अंतर्गत आते हैं। धनु और मीन राशि का स्‍वामी गुरु है एवं गुरु का रत्‍न है पुखराज। अत: धनु और मीन राशि के जातकों को पुखराज रत्‍न धारण करना चाहिए। आप पुखराज रत्‍न पंचधातु की अंगूठी में भी पहन सकते हैं। यदि किसी के वैवाहिक जीवन में मनमुटाव चल रहा है तो उन्‍हें पुखराज रत्‍न धारण करना चाहिए। गुरु की कृपा से पति-पत्‍नी के बीच आपसी प्रेम बढ़ता है। इस अंगूठी को प्राप्‍त करने के लिए इस नंबर पर कॉल करें – 08882540540

धनु और मीन राशि के लिए अभिमंत्रित पुखराज रत्न की अंगूठी धारण करें

मकर और कुंभ राशि

अगर आपके नाम के पहले अक्षर में भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी आता है तो आपकी राशि मकर है एवं यदि किसी का नाम गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा से शुरु होता है तो उस व्‍यक्‍ति की राशि कुंभ होती है। मकर और कुंभ राशि का स्‍वामी शनि देव हैं। शनि का रत्‍न नीलम है। नीलम रत्‍न अत्‍यंत शक्‍तिशाली रत्‍न है। इसे आप पंचधातु में जड़वाकर पहन सकते हैं। मकर और कुंभ राशि के जातकों का भाग्‍य बदलने की शक्‍ति रखता है नीलम रत्‍न। इस अंगूठी को प्राप्‍त करने के लिए इस नंबर पर कॉल करें – 08882540540

मकर और कुम्भ राशि के लिए अभिमंत्रित नीलम रत्न की अंगूठी धारण करें

Horóscopo mensual

किसी भी जानकारी के लिए Llamada करें: 8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Me gusta और Seguir करें: Página de Facebook de AstroVidhi